Unknown Facts/Trivia about ’12th fail’

12th fail unknown facts
  • दिल्ली का दौरा: जब Manoj पहली बार दिल्ली में पहुंचता है, तो निर्देशक ने दिल्ली के कवर करने के लिए विभिन्न iPhones, DSLRs और मुख्य फिल्म कैमरे का मिश्रण किया। संपूर्ण दृश्य को पूर्ण करने के लिए वे ब्लेंड शॉट्स, ओवरले भी शामिल करते हैं ताकि मनोज की मुख्य पात्र की दिमागी स्थिति और अनुभव को प्रतिष्ठित किया जा सके।
  • तुतुल के दरवाजे की कहानी: फिल्म की शुरुआत में ही, जब Pandey तुतुल के लिए दरवाजा खोलता है, तो उसके दर का बटन फिक्स हो जाता है। 4 साल बाद, जब हम उसे फिर से दरवाजा खोलते हैं, तो बटन अब भी फिक्स नहीं होता है – इससे यह साबित होता है कि उसने उसे कभी ठीक करवाया नहीं, जो इसके इन 4 सालों में उसकी भावनात्मक स्तिथि और मानसिक स्थिति को दर्शाता है।
  • Educate. Agitate. Organise.” स्टिक-ऑन: जब मनोज अपने काम में पढ़ता है, तो एक पॉइंट पर, एक स्टिक-ऑन देखा जा सकता है जिसने लिखा है ‘शिक्षित करें। आंदोलन करो. संगठित हो जाओ।’ मनोज बाद में अपने इंटरव्यू में अंबेडकर के इस उक्ति का हवाला देते हैं।
  • चयन प्रक्रिया: इस फिल्म की चयन प्रक्रिया बहुत विस्तृत थी। कम से कम 35+ एक्टर्स के लिए हर बार ट्रायल के लिए प्रमुख कलाकार आए थे – श्रद्धा जोशी, प्रीतम पांडे, गौरी भैया, रणवीर, पुष्पा, दादी। ऐसा करने के लिए मुख्य भूमिका के लिए केवल एक अभिनेता का परीक्षण हुआ था, वह थे मनोज।
  • Vikrant Massey की तैयारी: विक्रांत मैसी ने अपने गांव के लुक को हासिल करने के लिए मेकअप नहीं किया – उन्हें असली में हफ्ते भर गांव में बिताया और हर दिन एक बनियान में धूप में लेते रहे। उनकी त्वचा इतनी टैन हो गई है कि उसने खुद को देखा तो परेशान हो गया, लेकिन वीवीसी ने उसे ये कहकर आश्वासन दिया कि इस पर मत सोचो। फिल्म में उनकी जली हुई त्वचा के कुछ दृश्य साफ दिखाई देते हैं – जब उनका दादी से अलविदा होता है, और जब वह मसूरी श्रद्धा के घर आता है। पोस्ट-प्रोडक्शन में इसको ठीक करने का फैसला नहीं किया गया।
  • निर्देशित चुल: ये फिल्म शुरू में राजकुमार हिरानी के निर्देशन में आई थी, लेकिन जब वीवीसी ने इसे नए लिखने वाले लेखकों के साथ लिखा, तो उनके किरदारों से इतना प्रेम हो गया कि उन्हें खुद निर्देश देने का फैसला किया। उनको निर्देशित करने में थोड़ा सा संशय बना रहता था, क्योंकि ये उनके पहले बन गई थी, कोई भी फिल्म से अलग थी, लेकिन जब उन्हें विक्रांत मैसी के टेस्ट को देखा, तो अनहोन करने के लिए ये तय किया कि वो इसे खुद निर्देश देंगे।

ये कुछ अंजाने तथ्य हैं जो ’12वीं फेल’ के पीछे छिपे हैं और जिन्हे जान कर देखे बिना संभव नहीं है। Oldisgold.co.in पर और भी नए और रोचक फिल्मी अपडेट के लिए जुड़ती रहिए।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Verified by MonsterInsights