Old is Gold | Kati Patang- A Musical drama movie

Old is Gold | Kati Patang- A Musical drama movie

कटी पतंग 1971 की भारतीय हिंदी-भाषा की संगीतमय ड्रामा फिल्म है, जिसके निर्देशक और निर्माता शक्ति सामंत है। यह बॉक्स ऑफिस पर 3.8 crore सफल रही। दरअसल कॉर्नेल वूलरिच के 1948 के नावेल आई मैरिड ए डेड मैन पर आधारित है जिसे पहले 1950 की फिल्म नो मैन ऑफ हर ओन के रूप में चित्रित किया गया था।

फिल्म में आशा पारेख एक विधवा होने का नाटक करने वाली एक महिला के रूप में और राजेश खन्ना द्वारा निभाई गई उसके आकर्षक पड़ोसी के विपरीत उसके आगामी परीक्षण और क्लेश हैं। माधवी के रूप में पारेख के प्रदर्शन को समीक्षकों द्वारा सराहा गया और उन्हें सर्वश्रेष्ठ अभिनेत्री का फिल्मफेयर पुरस्कार मिला।

H

कटि पतंग की कहानी शुरू होती है माधवी (आशा पारेख) के शादी के दिन से लेकिन माधवी अपने प्रेमी कैलाश (प्रेम चोपड़ा) के साथ रहने के लिए उत्सुक है, न कि उस आदमी के साथ जिससे वह शादी करने वाली है। माधवी अपने शादी के मंडप से भाग कैलाश के पास जाती है लेकिन वहाँ कैलाश को किसी दूसरी महिला शबनम (बिंदु) की बाहों में देख उसका दिल टूट जाता है। वहाँ मधु के मामा ne अपमान से आत्महत्या कर ली hoti hai| मधु दूसरे शहर जाने का फैसला करती है जहाँ उसे अपनी बचपन की दोस्त पूनम मिलती है| पूनम एक विधवा है जिसका एक बच्चा है और वो शादी के बाद अपने ससुराल वालो से पहली बार मिलने जा रही होती है | dono train se safar kr rhe hote hai वहीं रास्ते में ट्रैन दुर्घटना में पूनम अपने अंग खो देती है और उसकी हालत गंभीर होती है | वो समझ जाती है की उसके पास ज़्यादा समय नहीं है इसलिए वह मधु से वादा करवाती है कि वह पूनम की पहचान को अपना लेगी, मुन्ना को पालेगी और पूनम के ससुराल में जीवन जारी रखेगी। मधु के पास एक मरती हुई माँ की इच्छा को मानने के सिवा कोई चारा नहीं होता है। रास्ते में मूसलाधार बारिश में, कैबी madhu ko लूटने का प्रयास करता है, लेकिन कमल (राजेश खन्ना), use बचा leta है और अगले दिन आसमान साफ ​​होने तक उसे आश्रय देता है। वह जल्द ही जान जाती है कि कमल वही आदमी है जिसके साथ उसकी शादी तय हुई थी।

Download Here

Kati Patang Full Movie

मधु शर्म से कमल का घर छोड़ पूनम के ससुराल पहुँच जाती है। पुत्रवियोग में पूनम के ससुर दीनानाथ (नासिर हुसैन) और सास (सुलोचना) उसे स्वीकार करते हैं और उसे वहीं रहने देते हैं। कमल दीनानाथ के सबसे अच्छे दोस्त का बेटा और उनका पड़ोसी होता है। जल्द ही, कमल को पूनम से प्यार हो जाता है और पूनम उर्फ़ मधु भी उसे पसंद करने लगती है

लेकिन मधु की बदकिस्मती कैलाश को दीनानाथ के घर ले आती है। पैसों की लालच में कैलाश, दीनानाथ के घर आ जाता है और मधु की पहचान का खुलासा करने वाला होता है। सफल होने के लिए, वह घर के सभी सदस्यों को प्रभावित करता है, लेकिन पूनम उसपर नाराजगी जताती है। दीनानाथ को जल्द ही पूनम की असली पहचान का पता चलता है और वह उससे सच पूछते हैं। जब उन्हें सच्चाई पता चलती है, तो वह माधवी को स्वीकार कर, उसे अपनी संपत्ति का संरक्षक बनाते हैं जो मुन्ना को विरासत में मिलेगी।

Abhi madhvi ko laga hi tha ab sab thik hai lekin उस रात, कैलाश दीनानाथ को ज़हर दे देता है। श्रीमती दीनानाथ, पूनम पर जो कुछ भी हुआ उसका आरोप लगा और उसे जेल में डलवा देतीं है। वहाँ शबनम दीनानाथों के जीवन में प्रवेश करने का असफल प्रयास करती है। कमल, मधु की सच्चाई पता लगने पर उसे नापसंद करने लगता है। हालांकि, उसे अंततः सच्चाई का एहसास होता है | kamal शबनम और कैलाश को उनके बुरे इरादों के लिए गिरफ्तार करा देता है और माधवी को मुक्त कर दिया जाता है। मधु कमल के लिए एक पत्र छोड़ जाती है, जिसमें लिखा होता है कि वह उसके जीवन से जा रही है और उसे खोजने की कोशिश नहीं की जाये। कमल उसे खोजना शुरू करता है और उसे एक चट्टान से कूदने की कोशिश करते हुए पाता है| कमल मधु को एक गाना गाकर रोकता है और दोनों गले लगते हैं।

Leave a Reply

Your email address will not be published.