Yeh Dil Aur Unki Nigahon | Dilip Kumar Vyjayanthimala | Prem Parbat

“ये दिल और उनकी निगाहों का साये” 1973 की हिंदी फिल्म ‘प्रेम पर्बत’ का एक गीत है। ऐसा माना जाता है कि फिल्म का प्रिंट समय के साथ नष्ट हो गया और इसलिए ये फिल्म और इसके गाने देखे नहीं जा सकते।
यह गीत यहाँ मधुमती (1958) के दृश्यों पर दर्शाया गया है, जिसमें मुख्य रूप से “आजा रे परदेसी” गीत शामिल है। दोनों गाने के बीच कई समानताएँ हैं और इसी कारण से ये गीतों के मिश्रण का प्रयास काफी वास्तविक प्रतीत होता है।
जयदेव का संगीत, जाँ निसार अख्तर के अद्भुत शब्द और लता मंगेशकर की हृदयस्पर्शी आवाज इस गीत को सदाबहार बनाती है।

Song :- Yeh Dil Aur Unki Nigahon Ke Saye
Film :- Prem Parbat
Artist :- Lata Mangeshkar
Music Director :- Jaidev
Lyricist :- Jan Nisar Akhtar

Yeh Dil Aur Unki Nigahon Ke Saye: Download

Download & Enjoy this super hit song Yeh Dil Aur Unki Nigahon Ke Saye from the Movie Prem Parbat starring Dilip Kumar and Vyjayanthimala. The music was directed by Jaidev and the Song sung by Lata Mangeshkar.

पसंद आया ? अब आप जब चाहे इस गीत तो download करके सुन सकते है | आइये साथ में गाते और गुनगुनाते है Yeh Dil Aur Unki Nigahon Ke Saye.

DOWNLOAD HERE

Yeh Dil Aur Unki Nigahon Ke Saye

To Download the MP3 version of ‘Yeh Dil Aur Unki Nigahon Ke Saye‘, click and select the ‘Save As’ option in your location to download this song.

Lyrics

Yeh dil aur unki
nigaahon ke saaye
Mujhe gher lete hain
baahon ke saaye

Pahaadon ko chanchal
kiran chumatee hai
Hawaa har nadee kaa
badan chumatee hai
Yahaa se wahaa tak,
hain chaahon ke saaye

Lipate ye pedon se
baadal ghanere
Ye pal pal ujaale,
ye pal pal andhere
Bahot thande thande,
hain raahon ke saaye

Dhadakate hain dil
kitanee aazaadeeyon se
Bahot milate julate hain
in waadiyon se
Mohabbat kee rangeen
panaahon ke saaye

पसंद आया ? अब आप जब चाहे इस गीत तो download करके सुन सकते है | आइये साथ में गाते और गुनगुनाते है Yeh Dil Aur Unki Nigahon Ke Saye.

DOWNLOAD HERE

To Download the MP3 version of ‘Yeh Dil Aur Unki Nigahon Ke Saye‘, click and select the ‘Save As’ option in your location to download this song.

Lyrics

ये दिल और उनकी निगाहों के साये
ये दिल और उनकी निगाहों के साये
ये दिल और उनकी निगाहों के साये

मुझे घेर लेते हैं बाहों के साये
मुझे घेर लेते हैं बाहों के साये
पहाड़ों को चंचल किरण चूमती है
पहाड़ों को चंचल किरण चूमती है

हवा हर नदी का बदन चूमती है
हवा हर नदी का बदन चूमती है
यहाँ से वहाँ तक हैं चाहों के साये
यहाँ से वहाँ तक हैं चाहों के साये
ये दिल और उनकी निगाहों के साये

मुझे घेर लेते हैं बाहों के साये
मुझे घेर लेते हैं बाहों के साये
लिपटते ये पेड़ों से बादल घनेरे
लिपटते ये पेड़ों से बादल घनेरे

ये पल पल उजाले, ये पल पल अंधेरे
ये पल पल उजाले, ये पल पल अंधेरे
बहोत ठंडे ठंडे हैं राहों के साये
बहोत ठंडे ठंडे हैं राहों के साये

ये दिल और उनकी निगाहों के साये
मुझे घेर लेते हैं बाहों के साये
मुझे घेर लेते हैं बाहों…

Leave a Reply

Your email address will not be published.