Mohabbat Hai Kya Cheez- Prem Rog| Lata Mangeshkar Evergreen Hits – Old is Gold songs

Song: Mohabbat Hai Kya Cheez
Movie: Prem Rog (1982)
Artist: Lata Mangeshkar and Suresh Wadkar
Music Director: Laxmikant Pyarelal
Actor: Padmini Kolhapure, Rishi Kapoor,
Lyricist: Pt. Narendra Sharma

Mohabbat Hai Kya Cheez : Download

 

Download

To Download the MP3 version of ‘Mohabbat Hai Kya Cheez‘ , click and select the ‘Save As’ option in your location to download this song.

Lyrics

ये दिन क्यों निकालता है
ये रात क्यों होती हैं
ये पीड़ कहाँ से उठती है
ये आँख क्यों रोती है मुहब्बत है क्या चीज़
मुहब्बत है क्या
चीज़ हम को बताओ
मुहब्बत है क्या
चीज़ हम को बताओ
ये किसने शुरू की
किसने शुरू की
हमें भी सुनाओ
मुहब्बत है क्या
चीज़ हम को बता
ये किसने शुरू
की किसने शुरू की
हमें भी सुनाओ
मुहब्बत है क्या चीज़
मुहब्बत है क्या चीज़ शाम तक था एक भंवरा
फूल पर मंडल रहा
रात होने पर कमल की
पंखडी में बांध था
क़ैद से छूटा सुबह
तो हम ने पूछा क्या हुआ
कुछ न बोला कुछ
न बोलै कुछ न बोला
अपनी धुन में
बस यही गाता रहा
मुहब्बत है क्या
चीज़ हम को बताओ
ये किसने शुरू की
हमें भी सुनाओ
मुहब्बत है क्या चीज़
मुहब्बत है क्या चीज़ दहकता है बदन कैसे
सुलगती हैं ये साँसें क्यों
ये कैसे आग होती है पिघलती
है ये शम्मा क्यों
दहकता है बदन कैसे
सुलगती हैं ये साँसें क्यों
ये कैसे आग होती है
पिघलती है ये शामा क्यों
जल उठी शम्मा तो मचल
कर परवाना आ गया
आग के दामन में
अपने आप को लिपटा दिया
हमने पूछा दूसरे
की आग में रख्खा है क्या
कुछ न बोला कुछ
न बोलै कुछ न बोला
अपनी धुन में बस
यही गाता रहा
मुहब्बत है क्या
चीज़ हम को बताओ
ये किसने शुरू की
हमें भी सुनाओ
मुहब्बत है क्या चीज़
मुहब्बत है क्या चीज़ नशा होता है कैसा
बहकते है क़दम कैसे
नज़र कुछ भी नहीं
आता ये मस्ती कैसी होती है
एक दिन गुज़ारे जो हम
मई कड़े के मोड़ से
एक मई काश जा रहा
था मई से रिश्ता जोड़ के
हमने पूछा किस लिए
तू उम्र भर पीटै रहा
कुछ न बोला कुछ
न बोलै कुछ न बोला
अपनी धुन में बस
यही गाता रहा
मुहब्बत है क्या
चीज़ हम को बताओ
ये किसने शुरू की
हमें भी सुनाओ
मुहब्बत है क्या
चीज़ हम को बताओ
ये किसने शुरू की
हमें भी सुनाओ
मुहब्बत है क्या चीज़
मुहब्बत है क्या चीज़
मुहब्बत है क्या चीज़.

DOWNLOAD HERE

To Download the MP3 version of ‘Mohabbat Hai Kya Cheez‘, click and select the ‘Save As’ option in your location to download this song.

Lyrics

Ye din kyon nikalata hai
Ye raat kyon hoti hain
Ye pid kahaan se uthati hai
Ye aankh kyon roti hai Muhabbat hai kya cheez
Muhabbat hai kya
Cheez ham ko bataao
Muhabbat hai kya
Cheez ham ko bataao
Ye kisane shuru ki
Kisane shuru ki
Hamein bhi sunaao
Muhabbat hai kya
Cheez ham ko bataa
Ye kisane shuru
Ki kisane shuru ki
Hamein bhi sunaao
Muhabbat hai kya cheez
Muhabbat hai kya cheez Shaam tak tha ek bhanvara
Phool par mandala raha
Raat hone par kamal ki
Pankhadi men bandh tha
Qaid se chhuta subaha
To ham ne puchha kya hua
Kuchh na bola kuchh
Na bola kuchh na bola
Apni dhun me
Bas yahi gaata raha
Muhabbat hai kya
Cheez ham ko bataao
Ye kisane shuru ki
Hamein bhi sunaao
Muhabbat hai kya cheez
Muhabbat hai kya cheez Dahekata hai badan kaise
Sulagati hain ye saansen kyon
Ye kaise aag hoti hai pighalati
Hai ye shamma kyon
Dahakata hai badan kaise
Sulagati hain ye saansen kyon
Ye kaise aag hoti hai
Pighalati hai ye shama kyon
Jal uthi shamma to machal
Kar paravaana aa gaya
Aag ke daaman men
Apne aap ko lipata diya
Hamane puchha dusare
Ki aag men rakhkha hai kya
Kuchh na bola kuchh
Na bola kuchh na bola
Apni dhun men bas
Yahi gaata raha
Muhabbat hai kya
Cheez ham ko bataao
Ye kisane shuru ki
Hamein bhi sunaao
Muhabbat hai kya cheez
Muhabbat hai kya cheez Nasha hota hai kaisa
Bahekate hai qadam kaise
Nazar kuchh bhi nahin
Aata ye masti kaisi hoti hai
Ek din guzare jo ham
May kade ke mod se
Ek may kash ja raha
Tha may se rishta jod ke
Hamane puchha kis liye
Tu umr bhar pita raha
Kuchh na bola kuchh
Na bola kuchh na bola
Apni dhun me bas
Yahi gaata raha
Muhabbat hai kya
Cheez ham ko bataao
Ye kisane shuru ki
Hamein bhi sunaao
Muhabbat hai kya
Cheez ham ko bataao
Ye kisane shuru ki
Hamein bhi sunaao
Muhabbat hai kya cheez
Muhabbat hai kya cheez
Muhabbat hai kya cheez.

Leave a Reply

Your email address will not be published.